बार बार और ज्यादा पेशाब आने से रोकने का इलाज और 10 उपाय

peshab ka bar bar ana, bar bar peshab ka ilaj in hindi, पेशाब ज्यादा आना
Sending
User Review
3.5 (4 votes)

बार बार पेशाब आने का इलाज इन हिंदी – यह एक परेशान कर देने वाली समस्या है, इसके वजह से पेट भर पानी पिने से भी डर लगता है क्योंकि जरा सा पानी पिने पर ही इतनी पेशाब आती है तो फिर ज्यादा पानी पिएंगे तो फिर और कितनी आएगी. यह समस्या मुझे भी थी मेने बहुत सी दवा मेडिसिन्स भी ली लेकिन उनसे उतना आराम नहीं मिला जितना मुझे आयुर्वेदिक घरेलु नुस्खे को आजमाने से मिला. इनसे बिना किसी नुकसान घरेलु उपचार हो जाता है.

पेशाब हमारे शरीर की एक अहम् प्रक्रिया है अगर यह बिगड़ जाए तो अनेक शारीरिक रोग होने की संभावनाए पैदा हो सकती है. हमारा शरीर पेशाब के जरिये शरीर में मौजूद बेकार के पदार्थो को बाहर निकालता है, लेकिन अगर जरा सा पानी पिने पर ही व कम समय में ज्यादा बार पेशाब आता हो तो यह एक बीमारी का संकेत होता है. इसलिए निचे दिए जा रहे pesab bar bar urine ana ilaj in Hindi  home remedies करे व इस रोग से जल्द छुटकारा पाए.

पेशाब ज्यादा आना

बार बार पेशाब आने का कारण

  • ब्लैडर का इन्फेक्शन
  • मधुमेह की बीमारी होने से
  • कॉफ़ी चाय ज्यादा पिने से
  • मूत्राशय की पेशाब रोकने की क्षमता कम होने से
  • किन्ही दवाइयों के सेवन से भी पिसाब ज्यादा आने लगता है
  • किडनी में संक्रमण होने से
  • अत्यधिक हस्थमैथुन के कारण

पेशाब ज्यादा आना आने के लक्षण

  • पेशाब का रंग पीला हो जाता है, प्यास ज्यादा लगती है, अनिद्रा की शिकायत, शरीर की कमजोरी बढ़ती है और अगर टीबी के रोगी को यह शिकायत हो जाये तो फिर उसके जीवित रहने की सम्भावना न के बराबर होती है.
  • सर्दी में ज्यादा पेशाब आना आम होता है व प्रेगनेंसी में भी यह आम होता है, इसलिए ऐसी स्थिति में इन्हें बीमारी नहीं समझना चाहिए.

बार बार पेशाब ज्यादा आना कैसे रोके

Bar Bar Peshab Ka ilaj in Hindi

  • 10-20 ग्राम काले तिल और परवल भस्म का सेवन करने से बहुमूत्र रोग मिट जाता है, इस उपाय से बार बार पेशाब आना रुक जाती है.
  • आंवले के रस में 50-60 ग्राम शहद मिलाकर पिने से बार-बार पिसाब आना बंद हो जाती है.
  • जायफल और सफ़ेद मसूली को बराबर की मात्रा में लेकर फांकी लेने से भी अत्यंत लाभ होता है.
  • रोजाना पके हुए केलो को खाने से भी पेशाब ज्यादा आना रुक जाती हैं. इसके अलावा खाना खाने के बाद 2-4 पके केले खाये तो यह घरेलु उपाय भी बार बार पेशाब आने से रोकता है व मूत्र को रोकने की क्षमता बढ़ाता है.
  • रोजाना नियमित रूप से मेथी की सब्जी खाने से भी यह रोग ख़त्म हो जाता है, इसकी सब्जी खाने से बहुत फायदा होता हैं. अगर जल्दी ठीक होना चाहते है तो दोनों समय एक सप्ताह तक मेथी की सब्जी खाये. यह सबसे आसान बार बार पेशाब आने से रोकने का उपाय है.
  • पेशाब ज्यादा आना का उपाय में आप सुबह और शाम दोनों समय नियमित रूप से गूढ़ से बने तिल के लड्डू खाना शुरू करे, 30-30 ग्राम के लड्डू खाये इससे ज्यादा भी खा सकते है. इस छोटे से प्रयोग से दिव्य चमत्कारी लाभ होता है. इसके अलावा तिल का अलग से सेवन भी करे.
  • 50 ग्राम की मात्रा में भुने हुए चने छिलके सही खूब चबा-चबाकर खाने के बाद थोड़ा सा गूढ़ खाये और फिर पानी पि लें. दो सप्ताह तक रोजाना शाम को यह प्रयोग करे. इस आयुर्वेदिक इलाज से बहुत लाभ होता है.
  • अंगूर खाये व अंगूर का रस रोजाना पिए इससे भी बहुत लाभ होता है, जिन कमजोरी से पेशाब ज्यादा आती है यह उनकी कमजोरी दूर करता है.
  • मेथी की सब्जी की तरह ही पालक की सब्जी खाने से भी लाभ होता है. इसके लिए आप शाम के भोजन में पालक की सब्जी खाये, पालक का रस पिए तो बार बार पेशाब आना बंद हो जायेगा.
  • 10 ग्राम आंवला चूर्ण, 4 ग्राम काले जीरे का चूर्ण और 5 ग्राम मिश्री इन तीनो को मिलाकर दो खुराक बना लें और सुबह शाम ताज़ा पानी के साथ यह खाये.
  • एक केला खाकर, ऊपर से एक कप आंवले के रस में शक्कर मिलाकर पिए तो इस घरेलु उपाय से भी लाभ होता है. इससे पेशाब रोग का इलाज भी होता है.
  • 3-4 आंवलो का रस लें और इन्हे पानी में मिलाकर दिन में चार पिए तो इसे आसान घरेलु नुस्खे से भी पेशाब का इलाज हो जाता है. (bar bar urine ana) इस साधारण नुस्खे से भी
  • रोजाना सुबह व दुपहर का भोजन करने के बाद एक कप या एक गिलास दही पिए, दही न हो तो मत्था छाछ भी पि सकते है. इससे पेशाब की सफाई होगी, बेक्टेरिअ ख़त्म होंगे.
  • गाजर के रस में भी मूत्र की अधिकता को रोकने की क्षमता होती है, इसलिए गाजर खाये और गाजर का रस भी पिए.
  • कॉफ़ी, चाय, शराब आदि इन को बिलकुल कम कर दें, क्योंकि इनके अत्यधिक सेवन से पेशाब बार बार आती है. इसलिए इनके सेवन का परहेज करे इनके जगह पर आप दूध पि सकते हैं.
  • एक दिन में दो बार सुबह और शाम को एक गिलास पानी में आधी चम्मच नमक और 1 चम्मच अजवाइन मिलाकर पिए तो बार बार पेशाब आना इस छोटे से नुस्खे से ठीक होने लगेगी.
  • इसके लिए आप होमियोपैथी इलाज का भी सहारा ले सकते हैं, इसके लिए नजदीकी होमियोपैथी डॉक्टर से मिले.

bar bar peshab aana, बार बार पेशाब आना, bar bar peshab ka ilaj in hindi

पेशाब ज्यादा आने पर यह जरूर करे

  • दूध में गूढ़ मिलाकर पिए
  • नारियल का पानी पिए
  • पालक की सब्जी खाये
  • मेथी की सब्जी खाये
  • गूढ़ और तिल के लड्डू सुबह शाम खाये
  • पके हुए केले रोजाना खाये
  • गाजर का रस पिए
  • रात में ज्यादा पिसाब आती है तो रोजाना सेब खाये

पेशाब में संक्रमण आने के कारण भी कई बार मूत्र से सम्बंधित रोग पैदा हो जाते है, इससे बचने के लिए भरपूर मात्रा में पानी पिए. अक्सर हम पानी को कम मात्रा में ही पीते है इस वजह से हमारा शरीर ठीक प्रकार से डेटॉक्स नहीं हो पाता हैं और शरीर का ठीक प्रकार से डेटॉक्स नहीं होगा तो शरीर के bacterial संक्रमण आदि शरीर से बाहर नहीं निकल पाएंगे जिससे यह ऐसे मूत्र के रोग पैदा हो जाते है. इसलिए ज्यादा से ज्यादा मात्रा में पानी पिए और फलों का रस भी पीते रहे.

NEXT PAGE > पेशाब में जलन होना  

अब आप यहां दिए गए इन बार बार पेशाब आने के उपाय और इलाज urine bar bar jana in Hindi को करे व चाय कॉफ़ी शराब के सेवन से बचे साथ ही यहाँ दिए गए अन्य आयुर्वेदिक नुस्खे आजमाए तो आपको बहुमूत्र की शिकायत में बहुत आराम मिलेगा. इसके अलावा अगर मूत्र से खून आदि निकले तो डॉक्टर को दिखाए क्योंकि यह किसी अन्य घातक बीमारी का संकेत हो सकता है.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.