बाबा रामदेव ने बताए पथरी के 5 अचूक इलाज : Kidney Stone

Sending
User Review
5 (1 vote)

pathri ka ilaj baba ramdev, ramdev baba ki pathri ka ilaj

पथरी का इलाज बाबा रामदेव इन हिंदी में आयुर्वेदिक – जैसे-जैसे व्यक्ति का आहार विकृत होते जा रहा है और शारीरिक श्रम का आभाव होता जा रहा है पानी की मात्रा कम होती जा रही है हमारे Daily Life में हम पानी कम पीते हैं और तैलीय पदार्थ ज्यादा खाते हैं.  और कई तरह की अंग्रेजी दवा का सेवन भी करते है.

उससे पथरी हो जाती है एक तो gallbladder में stone होता है (पित्त की पथरी), एक Pancrease में stone होता है (अग्न्याशय पथरी), एक kidney में stone होता है (गुर्दे में पथरी) फिर किसी को गले में और किसी को तो पुरे शरीर में कही भी पथरी हो सकती है. इससे छूटकर दिलाने के लिए में आपको baba ramdev kidney stone treatment in Hindi के बारे में बता रहे है आप इसे पूरा पड़ें.

पथरी का कारण बाबा रामदेव

पथरी में Calcium deposit हो जाता है, ज्यादातर वो पथरी बन जाता है वो calcium deposit सभी तरह की पथरी में होता हैं. Calcium का deposition जो है वह कही भी हो सकता है. (उदाहरण के लिए मेने एक को देखा था उसको गले में पथरी हो गई थी इस तरह लोगों को शरीर में कही भी पथरी हो जाती है) हर जगह ज्यादातर तो पथरी कैल्शियम से बनती हैं. अब निचे पड़ें बाबा रामदेव के पथरी निकालने के उपाय के बारे में.

पथरी का इलाज बाबा रामदेव पतंजलि

Kidney Stone Treatment by Baba Ramdev Medicine in Hindi

  • पहले लोग कुल्थी की दाल कभी-कभी खा लिया करते थे. कुल्थी की दाल का सेवन करने से कहीं पर भी आपको कैसी भी पथरी नहीं होगी. इसका उपयोग ऐसे करे आप 1-2 चम्मच कुल्थी को एक गिलास पानी में उबाले जब यह 50 ग्राम बच जाए तो इसी छान कर पिले.
  • पथरी के लिए मूली का प्रयोग भी बहुत असरकारी होता है. पहले लोग खूब खाया करते थे. अब मूली का हम सलाद आदि में प्रयोग करते है. जो मूली का नियमित रूप से सेवन करते है उनको पथरी नहीं होती है. इसके साथ ही मूली के juice का भी सेवन कर सकते हैं.
  • जौ का आटा कभी कभी खा लिया करे. जौ का सेवन पथरी के लिए बहुत अच्छा रहता है पहले तो हमारे यहां खाने में हम जौ है, चना है, गेहूं है, बाजरा है, मक्का है अलग अलग तरह के अन्न खाया करते थे यह सब स्वास्थ्य के लिए बहुत अच्छा होता है.
  • तो जौ का सेवन जो करते है उनको भी कभी पथरी का रोग नहीं होता है. जौ पथरी का इलाज के लिए बाबा रामदेव द्वारा बताया खास नुस्खा है.

Divya Ashmarihar Ras Medicine 

Medicine for kidney stone by baba ramdev अब निचे पड़ें बाबा रामदेव के पथरी निकालने के उपाय के बारे में. तौर पर हम यवक्षार है, मुलीक्षार है, जौ का मूली अक्षर बना लेते है उसकी प्रक्रिया है हजरल यहूद भस्म उसमे डालते है फिर श्वेत परपर्ती को उसमे डालते है तो इससे हम अस्महिर रस “divya ashmarihar ras” बनाते हैं. इसका सेवन सुबह व शाम एक 1 ग्राम किया जाता है. यह पतंजलि रामदेव बाबा की पथरी के लिए दवा में सबसे बेहतर और असरकारी होती है.

  • और पथरी के लिए कुछ काढ़े होते है. जैसे वरुण की छाल है गोखरू है पुनर्नवा है, पाषाणभेद है. इन सब को मिलाकर के हमने अस्महिर काढ़ा बनाया इसका भी सेवन एक-एक चम्मच काढ़ा बनाकर कर लिया जाए तो पथरी दूर हो जाती है. हमारी दादी माँ के नुस्खे में एक है यह जिसे लोग भूल से गए है,
  • एक पत्थरचाट नमक पौधा होता है. इनका 3 से 4 पत्ते का सेवन कर लिया जाए तो सभी तरह की पथरी से छुटकारा पाया जा सकता है. किसी की सात दिन में किसी की 15 दिन में किसी की एक महीने में पथरी निकल जाती है.
  • कपालभाति करते-करते लोगों को थोड़ा सा दर्द होने लगता है फिर वह थोड़ा पानी पीते है और पथरी निकल जाती है ऐसे ही ज्यादातर लोगों के साथ जाता है. Gall stone में भी यदि बहुत ज्यादा gallbladder पूरा ही भर गया हो तो उस समय तो आपको इसका operation कराना ही पड़ेगा.

यह सभी तो आरंभिक अवस्था के पथरी के मरीजों के लिए है. तो कपालभाति जो है यह पथरी के लिए रामबाण उपचार में से है इसको योग में पथरी के लिए बहुत महत्व दिया जाता है.

आप खुद इन रामदेव पथरी के उपचार में इन असरकारी व रामबाण घरेलु नुस्खे को अपनाये और दूसरों को भी बताये जिससे की किसी को भी पथरी के लिए operation कराने की जरुरत न पढ़े और एक बार आप operation करा लेते है तो बार-बार फिर से पथरी develop होती है. इसलिए आपरेशन कराने पर भी पथरी का Permanent solution नहीं होता है.

pathri ke upay by baba ramdev

Divya Ashmarihar Ras Medicine

  • अगर आप नियमित रूप से कपालभाति प्राणायाम करते है और थोड़ा तेज चलते हैं या थोड़ा तेज दौड़ते हैं तो आपको कभी भी पथरी नही होगी. दूसरी बात आपको पानी की मात्रा में कमी नहीं करना चाहिए, पानी जितना ज्यादा हो सके पिए.
  • Gallbladder stone गुर्दे की पथरी भी बहुत तेजी से बढ़ता जा रहा है Gallbladder का जो stone हैं वो Cholesterol के बढ़ने से होता है यदि आप नियमित रूप से कपालभाति करते हैं तो आपको Gallbladder stone भी नहीं होगा और आपका cholesterol भी control में रहेगा.
  • तले हुए पदार्थ हम ज्यादा खाने लगे और शारीरिक श्रम छूट गया इसलिए आजकल हमें नई-नई तरह की बीमारियां होने लगी हैं.
  • तो इसमे कपालभाति तो जरूर करना चाहिए नहीं तो आपको kidney stone, gallbladder stone व pancrease stone या शरीर में कही पर भी stone हो सकता हैं, गुर्दे की पथरी, पित्त्त की पथरी बाबा रामदेव के उपाय.
  • कभी-कभी छाछ भी पीलिया करे, पहले के लोग खाने के बाद या दिन में कभी भी थोड़ी सी खट्टी सी छाछ पीलिया करते थे, इसके स्वास्थ्य पर बहुत अच्छे असर पड़ते है, इससे मूत्र रोग भी नहीं होते और शरीर के विकास के लिए भी इसमे calcium से लेकर सभी तरह के पोषक तत्त्व होते है. यह digestion के लिए भी बहुत अच्छी होती है. तो छाछ का सेवन कभी-कभी जरूर कर लिया करे

pathri ka ilaj by baba ramdev, pathri ka ilaj patanjlai

  • ऐसे ही आयुर्वेदिक और प्राचीन नुस्खे हमने पिछली पोस्ट में बताये थे जो की पथरी को जड़ से ख़त्म करते है आप उन्हें भी एक बार जरूर पड़ें. इसके लिए इस नेक्स्ट पेज पर क्लिक करे.
  • NEXT PAGE

आप योगाभ्यास करके यह जो हमने प्राकृतिक बाबा रामदेव के उपाय बताये इनको अपना करके आप बार-बार पथरी होने की जो tendency हैं उससे भी आप बच सकते है. बाबा रामदेव सभी तरह की गुर्दे व पित्त पथरी के लिए योग आयुर्वेद और प्राकृतिक चिकित्सा को अपनाये जिससे की आप बार बार पथरी होने से बच जाएंगे.

तो इस तरह आप बताये गए उपाय को करते रहे, इन नुस्खों करने से सिर्फ 10-15 दिन में ही आपकी समस्या हल हो जाएगी. अब आप इस पतंजलि पथरी का इलाज बाबा रामदेव  kidney stone treatment by baba ramdev in Hindi को ज्यादा से ज्यादा शेयर करे और सभी लोगों तक इसे पहुंचाए ताकि बिना किसी ऑपरेशन के लोगों की गुर्दे पित्त की पतरी से छुटकारा मिल सके.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.