कपालभाति कब और कितने मिनट करना चाहिए ? तीन गुना लाभ मिलेगा

kapalbhati kitne time der tk karna chahiye
Sending
User Review
5 (2 votes)

हर नया अभ्यासी जानना चाहता है की कपालभाति कितने मिनट करना चाहिए, कितने देर और कब करे और इसको करने का सही टाइम क्या होता है. यह जरुरी भी है की आप इसे करना शुरू करे उसके पहले आपको इसके बारे में सारी जानकारी हो जाए. क्योंकि गलत समय पर और गलत तरीके से किये गए किसी भी कार्य से कोई फायदा नहीं होता, बल्कि नुकसान ही होता है.

तो आइये जानते है कपालभाति प्राणायाम कब करना चाहिए, कौन सा समय इसके लिए सबसे अच्छा होता है और की स्थिति में इसे करना चाहिए आदि सारी जानकारी हम आपको इस पोस्ट में देंगे. पिछले पोस्ट में हमने कपालभाति योग को करने से होने वाले लाभ के बारे और इसको करने के सही तरीके के बारे में बताया था अगर आपने वह नहीं पढ़ा तो उस पोस्ट को भी जरूर पड़ें : कपालभाति के 41 चमत्कारी फायदे

kapalbhati kitne time der tk karna chahiye

Kapalbhati Kitne Der Karna Chahiye Minutes in Hindi

कपालभाति प्राणायाम कितने मिनट करना चाहिए और कब करे

कपालभाति प्राणायाम अमृत से कम नहीं है, इसे कोई भी कर सकता है, किसी भी उम्र का व्यक्ति कर सकता है. बस कुछ नियम होते है जिनका पालन हमे करना होता है.

वैसे सबसे पहले हम बता दें कपालभाति कितने देर तक करना चाहिए, कितने मिनट इसे करना ठीक होता है. इसे आप 20-25 मिनट तक कर सकते है. अगर इसे सही तरीके से 10-15 मिनट भी किया जाए तो इतना भी बहुत होता है.

अगर आप कपालभाति का पूरा पूरा लाभ लेना चाहते है तो इसे आप रोजाना 10-15 मिनट जरूर करे, कपालभाति प्राणायाम का पूरा फायदा लेने के लिए इतना समय तो आपको देना ही होगा, जैसे ही आप इतने देर तक इसे करेंगे तो तुरंत ही आपको आनंद की अनुभूति होगी, विचार रुक जायेंगे, ठंडक सा लगेगा बहुत अच्छा महसूस होगा.

kapalbhati kaise kare, kapalbhati karne ka tarika

कपालभाति कितने टाइम करना चाहिए ? कपालभाति को वैसे तो सुबह के समय करना ही पर्याप्त होता है, लेकिन अगर आप इसे ज्यादा बार करना चाहते है तो शाम के समय इसे कर सकते है. यूं तो किसी भी समय कर सकते है, बस शर्त यह है की आपका पेट खाली होना चाहिए, भरे पेट में कपालभाति कभी नहीं करना चाहिए, नुकसान करता है.

इसलिए आप शाम को भी कर सकते है, लेकिन खाली पेट रहने पर ही करे और जहाँ पेड़ पौधे हो खुली हवा हो वही पर करे. शाम के समय हवा में ऑक्सीजन ज्यादा नहीं होती इसलिए शाम के टाइम किये गए प्राणायाम को ज्यादा महत्त्व नहीं दिया जाता है.

अगर आप 3 महीने तक लगातार 15 मिनट इसे देते है तो आपके व्यक्तित्व में बदलाव आएगा, आप ज्यादा जवान हो जायेंगे, आप ऊर्जावान महसूस करेंगे, आलस्य नहीं आएंगे, चेहरा चमक जायेगा बालों का झड़ना, पाचन शक्ति, त्वचा की कोमलता बढ़ेगी आदि कई लाभ होंगे.

अगर आपके पास ज्यादा समय नहीं है तो कम से कम 8-10 मिनट तो इसे जरूर करे, बहुत लाभ होगा. इसके अलावा अगर आपको कोई बीमारी है या किसी बीमारी को ख़त्म करने के लिए आप कपालभाति करना चाहते है तो फिर आप कपालभाति को 20-25 मिनट रोजाना करे. यह जल्दी असर करेगा और आपके शरीर की छोटी से छोटी बीमारी को भी ख़त्म कर देगा.

कपालभाति कब करना चाहिए ? कपालभाति प्राणायाम को सुबह के समय खुली हवा में, जहाँ पेड़ पौधे हो, स्वच्छ जगह पर ढीले कपडे पहनकर करना चाहिए. आप सुबह 5 बजे से लेकर 9 बजे तक इसे कर सकते है, सुबह जितने जल्दी इसे करेंगे उतना ज्यादा लाभ होगा. क्योंकि सुबह हवा में ऑक्सीजन की मात्रा ज्यादा होती है.

सामान्यतः जब हम एक सांस लेते है तो उसमे 40% ऑक्सीजन होती है बाकी कार्बन डाइऑक्साइड होती है लेकिन सुबह के समय हवा में ऑक्सीजन की मात्रा बढ़कर 60-70% तक रहती है, पेड़ पौधों के नजदीक इससे ज्यादा भी ऑक्सीजन होती है. इसीलिए आपको सुबह जल्दी उठकर यह करना चाहिए.

Kapalbhati By Baba Ramdev Full Details Step By Steps

तो अब आपने जान ही लिया होगा की kapalbhati kitne minute karna chahiye kab kare sahi samay time अब आप इसे रोजाना जरूर करे, तब जाकर कुछ दिनों में आपको इसके असर दिखने लगेंगे, वैसे तो इसे करने के बाद ही बहुत अच्छा लगने लगता है. यह कई बिमारियों का जड़ से नाश करता है. आप इसे जरूर करे.

Share करने के लिए निचे दिए गए SHARING BUTTONS पर Click करें. (जरूर शेयर करे ताकि जिसे इसकी जरूर हो उसको भी फायदा हो सके)
आयुर्वेद एक असरकारी तरीका है, जिससे आप बिना किसी नुकसान के बीमारी को ख़त्म कर सकते है। इसके लिए बस जरुरी है की आप आयुर्वेदिक नुस्खे का सही से उपयोग करे। हम ऐसे ही नुस्खों को लेकर आप तक पहुंचाने का प्रयास करते है - धन्यवाद.